ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
हम बसों का समय पर रखरखाव सुनिश्चित करेंगे : अरविंद केजरीवाल
November 8, 2019 • Delhi Search • delhi

सीएम केजरीवाल ने 100 नई बसों को दिखाई हरी झंडी

नई दिल्ली, ऑड-इवेन के बीच दिल्ली ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन (डीटीसी) के बेड़े में गुरुवार को 100 नई बसें शामिल की गई हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजघाट बस डिपो से क्लस्टर बसों को हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत भी मौजूद रहे।

बसों को रवाना करने के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं दिल्ली के लोगों को बधाई देना चाहता हूं कि राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों पर 100 नई बसों को हरी झंडी दिखाई गई। दिल्ली को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, स्वास्थ्य के लिए पूरी दुनिया में पहचाना जा रहा है, जल्द ही दिल्ली को अपने पब्लिक बस सिस्टम के लिए भी जाना जाएगा। दिल्ली सरकार अगले 6-7 महीनों में राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों पर 3000 बसें उतारने वाली है। जिसमें से 1000 इलेक्ट्रिक बसें भी दिल्ली में आएंगी। यह भारत में किसी राज्य में अब तक का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक बसों का बेड़ा होगा। बसें सीसीटीवी कैमरे, पैनिक अलार्म बटन, अलग-अलग एबल्ड के लिए हाइड्रोलिक लिफ्ट और सभी आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित हैं।

नई क्लस्टर बसों के समय पर रखरखाव के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बसों के फीचर मेंटेंर रहेंगे। पहले सुविधा डिलीवरी की समस्या था। अब ऐसा नहीं होगा। बसों का रखरखाव होगा। जैसे हम अस्पतालों का रखरखाव कर रहे, वैसे ही बसों का भी करेंगे। स्कूलों और अस्पतालों को बनाए रखने के लिए पिछली सरकारों को भी बजट स्वीकृत किए गए थे, लेकिन केवल इस सरकार ने उस बजट के साथ स्कूलों और अस्पतालों को बेहतर बनाने पर काम किया है। उसी तरह यह सरकार बसों की सभी सुविधाओं का समय पर रखरखाव सुनिश्चित करेगी। श्री केजरीवाल ने कहा कि गुरु नानक जयंती के कारण 11 और 12 नवंबर को ऑड-ईवन योजना से छूट पर निर्णय लेने के लिए बैठक होगी। हम सिख समुदाय की भावनाओं का सम्मान करते हैं। कई सिख संगठन ने अनुरोध किया है कि 550 वीं गुरु नानक जयंती के कारण 11 और 12 नवंबर को ऑड-ईवन ड्राइव से छूट दी जाए।

इस तरह की हैं सुविधाएं : ऑरेंज कलर की ये नई बसें 37 सीटों वाली हैं। सभी बसों में हाइड्रोलिक लिफ्ट है। जिससे दिव्यांग जनों को बस में सवार होने में सहूलियत होगी। इसके अलावा बस में 14 पैनिक बटन लगाए गए हैं। हर साइड में 7-7 पैनिक बटन हैं। इसके साथ ही तीन सीसीसीटीवी कैमरे अंदर लगाए गए हैं। 

बसों की मुख्य विशेषताएं हैं:

-व्हील चेयर से चलने वाले सवारियों के बोर्डिंग और अलाइटिंग की सुविधा के लिए अलग-अलग एबल्ड पर्सन के लिए हाइड्रोलिक लिफ्ट्स 

-महिला सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे

- हूटर के साथ पैनिक बटन

-बस की ट्रैकिंग के लिए जीपीएस सिस्टम 

-आरामदेह सीटें

पैनिक बटन : हर बस में यात्री केबिन में विभिन्न प्वाइंट पर यह पैनिक बटन होंगे। एक बार जब कोई यात्री पैनिक बटन दबाएगा, तो बस का सीसीटीवी फुटेज सीधे सेंट्रल कमांड सेंटर पर चला जाएगा और पुलिस हॉटलाइन तुरंत सक्रिय हो जाएगी। बस का जीपीएस लोकेशन स्वत बैकएंड तक पहुंच जाएगा। पैनिक बटन हर बस में सीसीटीवी और जीपीएस के ज्वाइंट सेट के साथ हैं।

इन रूटों पर चलेंगी यह 100 बसें 

नरेला से मोरी गेट टर्मिनल -18 

पल्ला से पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन -17

निलवाल से करमपुरा टर्मिनल -6 

उत्तम नगर टर्मिनल से जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम -8 

नरेला से पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन -12

आदर्श नगर से केंद्रीय टर्मिनल -19 

नागलोई से नरेला -  20