ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
वायरल को नजरअंदाज न करें, दिल को हो सकता है नुक्सान
January 4, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, अक्सर शरीर को कमजोर कर देने वाले वायरल को लोग मामूली समझ लेते हैं। साकेत स्थित मैक्स अस्पताल में एक मासूम मरीज ऐसा भी देखने को मिला जिसका वायरल के कारण दिल क्षतिग्रस्त हो गया। सात वर्षीय उज्बेकिस्तान निवासी रागेना का वायरल के कारण दिल खराब हो गया था हालांकि प्रत्यारोपण के लिए वेटिंग लम्बी होने के कारण डाक्टरों ने रगेना को वेन्ट्रीकुलर असिस्ट मशीन लगाईं है इसके बाद रागेना की स्थिति में काफी सुधार देखा गया और उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर केवल कृष्णा बताते हैं किदो साल की उम्र मर रागेना को वायरल मायोकार्डिटिस की वजह से दिल कसंक्रमण हो गया था यह संक्रमण इतना ज्यादा बाद गया की दिल के वाल्व बहुत ज्यादा खुल गए थे वह रक्त को धमनियों में पम्प भी नहीं कर पा रहे थे जब वह अस्पताल आई तब उसका दिल 10 स्वे 15 प्रतिशत ही अपना काम कर पा रहा था।

मैक्स अस्पताल के सीनियर हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ. विवेका कुमार के अनुसार ऐसी जोखिम भरी स्थिति में बेहद सावधानी और कार्यकुशलता की आवश्यकता होती है जरा सी लापरवाही नुकसानदेह साबित हो सकती है वो भी ऐसे में जब कि मरीज के पूरे शरीर पर सूजन आगे थी और वह सांस भी ढंग से नहीं ले पा रही थी ऐसे में प्रत्यारोपण के लिए दिल नहीं मिल पाने के कारण डॉक्टरों ने लेफ्ट वीएडी लगाने का फैसला किया। डॉक्टरों कीएक टीम ने पांच घंटे के लम्बे ऑपरेशन के बाद मशीन को रागेना के दिल सफलतापूर्वक लगा दिया। अस्पताल का दावा है कि इस मशीन को लगवाने वाली यह एशिया कि सबसे काम उम्र की मरीज है