ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
रोहिणी में पति के इलाज के लिए गहने बेचने गई महिला से लूटपाट
March 6, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, नॉर्थ रोहिणी इलाके में पति के उपचार के लिए कुछ सोने के गहने बेचने जा रही महिला के साथ बाइक सवार बदमाशों ने लूटपाट की। महिला के बैग में सोने के गहने और कई हजार रुपये, मोबाइल फोन, चश्मा व अन्य चीजें रखी थी। वारदात के वक्त महिला चलते ई रिक्शा से सड़क पर गिर गई। जिससे पैर में गंभीर चोट लगी। महिला दस से पन्द्रह मिनट तक सड़क पर बैठकर रोती रही। बैग में चश्मा होने के कारण उनको दिखाई भी कम दे रहा था। वारदात के बाद अब महिला को यह चिंता सता रही है कि वो अपने पति का ईलाज कैसे करवाएगी। हैरान करने वाली बात यह है कि वारदात के बीस घंटे बाद भी उनका फोन बंद नहीं हुआ था। जिसपर उन्होंने कई बार संपर्क करने की कोशिश की थी, लेकिन बदमाश फोन रिसीव नहीं कर रहे थे। पुलिस ने पीडि़त महिला के बयान पर केस दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है।

जानकारी के अनुसार पीडि़त महिला राजसिंघल परिवार के साथ सेक्टर-24 रोहिणी इलाके में किराये के मकान पर रहती है। परिवार में पति अशोक कुमार और बेटा बेटी हैं। उनके पति काफी समय से बिमारी से ग्रस्त है। 24 जनवरी को उनके पति की अचानक तबीयब काफी ज्यादा बिगड़ गई थी। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने कहा था कि उनकी डायलिसिस समय समय पर होनी है। नहीं तो उनकी तबीयत और ज्यादा बिगड़ सकती है। जिसके बाद वह डॉक्टरों के कहने पर पति की हफ्ते में दो बार डायलिसिस करा रही हैं। डॉक्टरों ने बताया था कि अशोक सिंघल के हाथ में एक उपकरण लगेगा जिससे डायलिसिस आसानी से हो सकती है। इसके लिए 15 हजार रुपये लगेगें। उन्होंने बताया कि कुछ समय से आर्थिक तंगी होने के कारण रुपये का इंतजाम करने के लिए उन्होंने अपने कुछ सोने के गहने बेचने के लिए गहने निकाले थे। सोमवार दोपहर करीब दो बजे जब वह ज्वैलरी बेचने के लिए सेक्टर-6 और 7 के डिवाईडिंग रोड पर बनी ज्वैलरी की दुकान पर आई थी। जौहरी गहनों की कीमत कम दे रहा था। वह वापिस दो बजकर 25 मिनट पर अपने घर के लिए वहां से निकल गई थी। जब वह ई रिक्शा में बैठी,अचानक पीछे से काले रंग की बाइक पर दो बदमाश आए। उसके पास लाकर बदमाशों ने बाइक की रफ्तार कम की। बाइक पर पीछे बैठे बदमाश ने उनके हाथ से बैग लूट लिया। बदमाश साईंबाबा वाली गली की तरफ फरार हो गए। पीडि़ता ने बताया कि वारदात के वक्त ई रिक्शा चालक ने अपने वाहन की रफ्तार को कम कर लिया था। तभी बाइक सवार बदमाश आए थे। जिन्होंने काले रंग के कपड़े और हेलमेट पहन रखा था। कुछ सैकेंड के लिए उन्होंने अपना बैग नहीं छोड़ा था। बदमाशों ने जब बैग को झटका मारा वह चलते ई रिक्शा से सडक पर गिर गई थी। जिसके बाद वह सडक काफी देर घुटने में चोट लगने के कारण काफी देर तक रोती रही थी। राहगीरों ने मौके पर पहुंचकर उनको फुटपाथ पर बैठाया था।