ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
रामलीला मैदान में हुआ भीम महासंगम का आयोजन, समरसता खिचड़ी का सहभोज
January 6, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, दिल्ली बीजेपी अपने सभी मोर्चों के बैनर तले राज्य की जनता से जुड़े रहने की कोशिश में लगातार प्रयासरत है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी दिल्ली में रैलियों का आयोजन कर रही है। इसी कड़ी में रविवार को रामलीला मैदान में समरसता खिचड़ी पकाई और पिछड़े वर्ग से जुड़े हजारों लोगों को ये खिचड़ी खिलाई गयी। भीम महासंगम विजय संकल्प-2019 के इस कार्यक्रम के जरिये बीजेपी अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों को जोड़ने की कोशिश में है। पेशे से शेफ विष्णु मनोहर ने नागपुर से आकर रामलीला मैदान में बीजेपी के लिए खिचड़ी पकाई। 10 बाई 10 फीट और 850 किलो वजन वाली कड़ाही में नागपुर से आई 1000 किलो दाल चावल, 500 किलो सब्जी, 200 किलो घी, 100 लीटर तेल, 200 किलो मसाले और 5000 हजार लीटर पानी डाला गया, कुल 5000 किलो खिचड़ी बनकर तैयार हुई। इससे पहले भी विष्णु 3000 किलो खिचड़ी बना चुके हैं।

इस मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल ने कहा कि भीम महासंगम, अनुसुचित जाति का बहुत बड़ा कार्यक्रम है, जिसमें समरसता खिचड़ी लोगों के बीच कई दिनों से मुख्य चर्चा के रूप में रही है। यह खिचड़ी नहीं समाज की समरसता का प्रसाद है जो कि 3 लाख अनुसुचित जाति के घरों से लिया गया है। बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर पूरे समाज को साथ लेकर चलने और सबके विकास के प्रमुख पक्षधर थे। आज यदि उनकी राह पर कोई चल रहा है तो वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं, सबका साथ-सबका विकास यह उनका परम लक्ष्य है। बाबा साहब और प्रधानमंत्री मोदी की विचारधार एक है। देश की आजादी के बाद से सभी राजनैतिक दलों ने दलितों के नाम पर केवल राजनीति कर राजनैतिक स्वार्थ सिद्ध किया, लेकिन उनका उचित सम्मान उन्हें किसी ने भी नहीं दिया।

श्री रामलाल ने कहा कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व की सरकार ने दलितों के मसीहा बाबा साहब, जिनके नाम पर केवल वोट बैंक की राजनीति की गई, उनके जीवन दर्शन के लिए पंचतीर्थ की स्थापना करने का कार्य किया। भाजपा समाज के सशक्तिकरण, उत्थान के लिए काम कर रही है, मोदी सरकार की नीति समाज के सभी वर्गों के गरीबों, वंचितों के लिए योजना बनाकर कार्य कर रही है। आज यहां बैठा हर कार्यकर्ता यह संकल्प लेकर जाये की वह 10-10 परिवारों के बीच जाकर उन्हें प्रधानमंत्री की जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देगा, सभी को साथ जोड़ने का कार्य करेगा, दिल्ली में कमल खिलायेगा और नरेन्द्र मोदी को 2019 में पुनः प्रधानमंत्री बनायेगा।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केन्द्रीय मंत्री थावरचन्द गहलोत ने कहा कि महान देशभक्त बाबा साहब डॉ. भीम राव अम्बेडकर की याद में भीम महासंगम एक अद्वितीय कार्यक्रम है। समरसता व समानता के वातावरण के लिए बाबा साहब ने अपना जीवन न्यौछावर कर दिया। वे सही मायने में देशभक्त थे। उन्होंने उच्च शिक्षा प्राप्त की थी कई उपाधियां उनके पास थी। वह चाहते तो अमेरिका ब्रिटेन में रह सकते थे, भारत में भी सुखी जीवन जी सकते थे लेकिन उन्हें अपने आराम से ज्यादा समाज में फैली विषमताओं को दूर करने का कार्य किया।

उन्होंने समरसता व समानता के लिए जन आन्दोलन कर दलितों के अधिकारों की लड़ाई लड़ी। संविधान का निर्माण कर सभी को समान अधिकार दिया। भाजपा उसी राह पर समरसता व समानता के लिए अंत्योदय का विस्तार कर रही है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उसी राह पर अग्रसर है। गरीबो को समर्पित मोदी सरकार अनुसुचित जाति के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध है। कांग्रेस ने बाबा साहब को कभी भी सम्मान नहीं दिया, लेकिन मोदी सरकार ने बाबा साहब की जन्मभूमि, शिक्षा भूमि, महापरिनिर्वाण, अन्तिम संस्कार स्थल पंचतीर्थ के रूप में स्थापित कर, दिल्ली में 26, अलीपुर रोड पर बाबा साहब का राष्ट्रीय मेमोरियल व 15, जनपथ पर अम्बेडकर अन्तर्राष्ट्रीय केन्द्र की स्थापन कर उन्हें उचित सम्मान दिया है।



इस मौके पर पहुंचे दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि राहुल गांधी का नाम लेकर उनकी खिचड़ी का स्वाद खराब मत कीजिये। तिवारी का यह जवाब इस सवाल के बाद आया कि क्या समरसता की खिचड़ी से वे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भी कोई सन्देश देना चाहेंगे। मनोज तिवारी ने कहा कि समरसता खिचड़ी के माध्यम से भाजपा समाज के सभी वर्गों को एक साथ लेकर आगे बढ़ने का संदेश दे रही है। हम इस कार्यक्रम के जरिये दलित समाज के लोगों तक उन सुविधाओं और योजनाओं की जानकारी भी पहुंचाना चाह रहे हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों की भलाई के लिए उठाया है।

वहीं मनोज तिवारी ने केजरीवाल सरकार की भत्र्सना करते हुये कहा कि केजरीवाल जानबूझकर आयुष्मान भारत योजना को बाधित कर रहे है। दिल्ली के 6.5 लाख परिवारों को इस योजना से वंचित करने का दिल्ली सरकार एक घिनौना षड़यन्त्र रच रही है। वास्तविकता में केजरीवाल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता से घबराये हुये है और दिल्ली की जनता की उन्हें कोई चिन्ता नहीं है। मेरा आप सभी से अनुरोध है कि अपने-अपने क्षेत्र में समरसता का संदेश लेकर जायें।

दिल्ली भाजपा अनुसुचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष मोहन लाल गिहारा ने कहा कि हमनें लगभग 3 लाख अनुसुचित जाति परिवारों के घरों से 28 हजार कार्यकर्ताओं ने सम्पर्क किया और सभी घरों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में अपना विश्वास प्रकट करते हुए मुठ्ठी भर दाल चावल समर्थन स्वरूप दिया। एक ही बर्तन में 3 हजार किलों खिचड़ी बनाने का विश्व रिकोर्ड नागपुर के विष्णु मनोहर के नाम है। आज वही विष्णु मनोहर ने 5 हजार किलो की समरसता खिचड़ी पक्काकर नया विश्व कीर्तिमान स्थापित किया है।

कार्यक्रम संयोजक एवं प्रदेश उपाध्यक्ष अभय वर्मा ने भीम महासंगम एवं समरसता खिचड़ी में दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रों से आये कार्यकर्ताओं एवं लोगों का दिल से आभार प्रकट किया और उन्होंने कहा कि हम सभी का एक ही लक्ष्य होना चाहिये 2019 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को देश का प्रधानमंत्री बनायें जिससे देश के विकास की गति अविलरल बनी रहे।

इस कार्यक्रम में भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल, केन्द्रीय मंत्री थावरचन्द गहलोत, डॉ. हर्ष वर्धन, विजय गोयल, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दुष्यंत कुमार गौतम, राष्ट्रीय महामंत्री अरूण सिंह, डॉ. अनिल जैन, सांसद डा. उदित राज, प्रवेश वर्मा, मीनाक्षी लेखी, मिजोरम के प्रभारी पवन शर्मा, दिल्ली भाजपा संगठन महामंत्री सिद्धार्थन, प्रदेश महामंत्री कुलजीत सिंह चहल, रविन्द्र गुप्ता, राजेश भाटिया, कार्यक्रम संयोजक व उपाध्यक्ष अभय वर्मा, जय प्रकाश, मोहन सिंह बिष्ट, राजीव बब्बर, दिल्ली भाजपा अनुसुचित जाति मोर्चा अध्यक्ष मोहन लाल गिहारा, महामंत्री लाजपत राय, राहुल गौतम, अनुसुचित जाति के प्रदेश पदाधिकारी, सभी जिला अध्यक्ष, पूर्व विधायक, सभी पार्षद, वरिष्ठ नेता व कार्यकर्ता उपस्थित थे।