ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
मौजूदा दिल्ली सरकार हर मोर्चे पर विफल हो चुकी है: शीला दीक्षित
February 25, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित के नेतृत्व में रविवार को महरौली जिला कांग्रेस कमेटी और बदरपुर जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा अपने-अपने जिलों में कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किए गए। शीला दीक्षित ने कहा कि केजरीवाल भ्रम फैला रहे है कि संसदीय चुनाव में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस में गठबंधन करके दिल्ली में चुनाव लड़ेंगे। लेकिन मैं साफ कर देना चाहती हूं कि कांग्रेस कोई गठबंधन नहीं करने जा रही है, वह अपने दम पर सातों सीटों पर चुनाव लड़ेगी और दिल्ली में भाजपा को परास्त कर सभी सीटों पर विजय प्राप्त करेगी। महरौली जिला कांग्रेस कमेटी में कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन जिला अध्यक्ष राजेश चैहान ने किया और बदरपुर जिला कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन जिला अध्यक्ष विष्णु अग्रवाल ने किया।
कार्यकर्ता सम्मेलनों को संबोधित करते हुए शीला दीक्षित ने कहा कि केजरीवाल दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए अनशन की बात करके लोगों को भटका रहे है, जबकि वह जानते है कि संसद का सत्र खत्म हो गया है और अब नई सरकार बनने पर ही नया सत्र शुरु होगा तब ही दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के लिए बिल लाया जा सकता है। लेकिन सीएम केजरीवाल झूठी वाह-वाही के लिए दिल्ली के लोगों में भ्रम फैला रहे है। मैं उनसे पूछती हूं कि चार साल पहले उन्होंने यह अनशन क्यों नहीं किया, सिर्फ चुनाव को देखकर ही उन्हें अब दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाना क्यों याद आ रहा है।
शीला दीक्षित ने कहा कि मौजूदा दिल्ली सरकार हर मोर्चे पर विफल हो चुकी है, मगर फिर भी दैनिक अखबारों में पूरे-पूरे पेज के 5-6 विज्ञापन प्रकाशित कर अपने झूठे दावों और वादों को प्रसारित करने में लगी है। दिल्लीवासी अब केजरीवाल सरकार को झूठे विज्ञापनों की सरकार के रुप में पहचान चुके है। दिल्लीवासियों के खून पसीने की कमाई से प्राप्त टैक्स के पैसों से अपना और अपनी पार्टी का स्वयं गुणगान करने में लगी दिल्ली सरकार विकास के रास्ते से भटक कर निम्न स्तर की नकारात्मक राजनीति कर रही है। श्रीमती दीक्षित ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल और उनकी पार्टी भ्रम फैलाने और झूठ बोलने में माहिर है। मौजूदा दिल्ली सरकार को अगर झूठों की सरकार कहा जाए तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। सच तो यह है कि आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी पर्दे के पीछे आपस में मिली हुई है और दिल्ली की जनता को धोखा देते हुए आपस में नूरा कुश्ती करती रहती है।
उन्होंने आगे कहा कि देशवासी कांग्रेस पार्टी के इतिहास को जानते है, इसे किसी को विस्तार से बताने की जरुरत नहीं है। जब दिल्ली में कांग्रेस सत्ता में थी तब हमने अनगिनत जनहितेषी कार्य किए थे जिसका गवाह दिल्ली में हुआ विकास है। उन्होंने कहा कि आज दिल्ली की हालत दयनीय है, सड़के टूटी हुई है, कूड़े के ढेर हर जगह पड़े है, बीमारियां फैल रही है। भाजपा शासित निगमों और दिल्ली सरकार ने दिल्ली की दयनीय हालत को ठीक करने के लिए कुछ नहीं किया। केन्द्र सरकार ने भी दिल्ली की तरफ से अपनी आंखें बंद कर रखी है।
शीला दीक्षित ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी ने देशवासियों के साथ-साथ दिल्ली के जनजीवन को भी अस्त-व्यस्त कर रखा था और फिर सीलिंग ने दिल्ली के व्यापार जगत और उद्योगों को चोट पहुचाते हुए लाखों मजदूरों के जीवन यापन के लिए समस्या पैदा कर दी। दिल्ली में हजारों परिवार इससे प्रभावित हुए और बेरोजगारी अपने चरम पर पहुच गई। दिल्ली सरकार मजदूरों के लिए न्यूनतम वेतन में वृद्धि की बात तो करती है मगर सीलिंग की वजह से बेरोजगार हुए लाखों मजदूरों के लिए रोजगार की व्यवस्था करने में नाकाम साबित हो रही है।
शीला दीक्षित ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री व आप पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल और भाजपा के खोखले वायदों से त्रस्त दिल्लीवासी केन्द्र के साथ-साथ दिल्ली की सत्ता में भी बदलाव चाहते है। जरुरत है कांग्रेस पार्टी दिल्लीवासियों के विश्वास को पुनः प्राप्त करे और उनकी आशा और उम्मीदों के प्रति यकीन दिलाए कि हम आज भी उनकी परेशानियां को हल करने के लिए सक्षम और प्रतिबद्ध है। इसके लिए हम सबको जन अभियान चलाते हुए घर-घर पहुचकर कांग्रेस पार्टी और अपने नेता राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की सोच और विचारों से अवगत कराएं ताकि उनके सहयोग और समर्थन से हम आने वाले लोकसभा चुनावों में दिल्ली की सातों सीटों पर विजय प्राप्त कर सकें।
कार्यकर्ता सम्मेलनों में प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित के अलावा कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया, पूर्व सांसद रमेश कुमार, लोकसभा चुनाव की अभियान समिति के अध्यक्ष सुभाष चैपड़ा, पूर्व मंत्री डॉ. योगानन्द शास्त्री, रमाकांत गोस्वामी, प्रदेश प्रवक्ता जितेन्द्र कुमार कोचर, जगप्रवेश कुमार, ओम प्रकाश बिधूड़ी, पूर्व विधायक बलराम तंवर, विजय सिंह लोचव, अरविन्दर सिंह लवली, पं. टेकचन्द शर्मा, कुवंर करण सिंह, और शीश पाल, रोहित मनचंदा, पूर्व महापौर सतवीर सिंह, निगम पार्षद वेदपाल, पूर्व पार्षद मीर सिंह, वीर सिंह बिधूड़ी, खविन्द्र सिंह, इंदू, आजाद बिधूड़ी, महेन्द्र चैधरी, चत्तर सिंह, हर्ष चैधरी, जिला अध्यक्ष राजेश चैहान और विष्णु अग्रवाल सहित हजारों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।