ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
मार्किटों में कचरा फेंकने के खिलाफ दक्षिण निगम ने चलाया विशेष अभियान
December 27, 2018 • Delhi Search

-एक साथ 167 बाजारों में की गई कार्रवाई, कुल 343 चालान

नई दिल्ली, 27 दिसंबर दक्षिण दिल्ली नगर निगम के चारों जोन में आज कचरा फेंकने के खिलाफ एक जोरदार अभियान चलाया गया। इसके अंतर्गत पश्चिमी जोन की 57, मध्य जोन की 32, दक्षिणी जोन की 50 और नजफगढ़ जोन की 28 मार्किट में सफाई कर्मचारियों ने बिखरा हुआ कचरा उठाया। कुल मिलाकर एक साथ एक दिन में 167 मार्किट में कचरा फेंकने के लिए कुल 343 चिट चालान किये गए। सबसे अधिक 187 चालान दक्षिणी जोन में और सबसे कम 33 चालान नजफगढ़ जोन में किए गए। मध्य जोन में 74 और पश्चिमी जोन में 49 चालान किए गए। ऐसे चालान किये जाने पर कचरा फेंकने वालों को निर्धारित तिथि पर मजिस्ट्रेट के सामने पेश होना पड़ता है और वहां उसे तय किया गया जुर्माना नकद भरना होता है।

दक्षिण दिल्ली नगर निगम के आयुक्त डॉ. पुनीत कुमार गोयल ने जोनल स्तर पर स्वच्छता निरीक्षकों और सहायक स्वच्छता निरीक्षकों से प्रतिदिन चलाए जाने वाले अभियान में पूरी निष्ठा और मेहनत से काम करने को कहा है। डॉ. गोयल ने कहा कि स्वच्छता के कार्य को वांछित गति देने के लिए प्रतिदिन गंभीर प्रयास किये जाने चाहिएं। उन्होंने डैम्स विभाग से कहा है कि प्रतिदिन विषय आधारित अभियान चलाए जाएं। जैसे कि कुछ दिन पहले धार्मिक स्थलों, कल वायु और धूल प्रदूषण तथा आज मार्किट पर ध्यान केंद्रित किया गया है। इसी तरह हर रोज अभियान चलाए जाने चाहिए। डॉ. गोयल ने जनता से अपील की है कि वे इधर उधर कचरा न फेंके और स्वच्छता अभियान को सार्थक और परिणामजनक बनाने में सहयोग दे ताकि दक्षिण दिल्ली नगर निगम स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में पहली 10 रैंकिंग में गौरवशाली स्थान बना सके।

ऐसा विशेष अभियान पहली बार चलाया गया है ताकि इधर उधर कचरा फेंकने वालों में भय की भावना उत्पन हो और लोगों में कचरा नहीं फेंकने की जागरूकता विकसित हो। इस अभियान से जनता में एक स्पष्ट संदेश जाएगा। नेहरू प्लेस, अमर काॅलोनी, जंगपुरा, सेक्टर 4 द्वारका और सेक्टर 10 द्वारका मार्किट में बड़े पैमाने पर कार्रवाई की गई। इनके अलावा अन्य प्रमुख मार्किट में भी अभियान चलाया गया। आज के जोरदार विशेष अभियान को अब तक का पहला व्यापक स्वच्छता अभियान भी कहा जा सकता है।

इस अभियान से मार्किट इलाकों और उसके आसपास स्वच्छता में सुधार लाने में बड़ी मदद मिलेगी। ऐसा करने से स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में दक्षिण दिल्ली नगर निगम की रैंकिंग में महत्वपूर्ण सुधार आएगा। यह गौरतलब है कि स्वच्छता की रैंकिंग तय करने में जनता की राय अहम रहती है। केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा अधिकृत मूल्यांकनकर्ता स्वच्छता के बारे में आम जनता से अलग अलग किस्म के 7 प्रश्न किये जाते हैं। रैंकिंग तय करने में जनता की राय को 1000 अंक दिये गए हैं। इनमें से अधिकांश अंक प्राप्त करने पर निगम की रैंकिंग में अभूतपूर्व उछाल आ सकता है। दक्षिण दिल्ली नगर निगम इन दिनों स्वच्छता पर विशेष ध्यान केंद्रित कर रहा है। प्रत्येक दिन एक नई पहल और एक नया स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है जिससे दक्षिण दिल्ली नगर निगम क्षेत्र को कचरा मुक्त करने और स्वच्छ बनाने की गति और इसका प्रभाव बढ़ेगा।