ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
मनोज तिवारी ने मीत नगर/गोकलपुर सबोली हाल्ट किया जनता को समर्पित
January 29, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी ने सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र की जनता को बहुप्रतीक्षित मीत नगर/ गोकलपुर सबोली हाल्ट की सौगात दी। उन्होंने कहा कि स्वार्थ की राजनीति करने वालों ने यदि नाम का विवाद न पैदा किया होता तो यह रेलवे हाल्ट एक वर्ष पहले शुरू हो गया होता। पुरानी दिल्ली से सहारपुर की ओर जाने वाली रेलगाड़ी संख्या-51910 सहारनपुर-दिल्ली जं पैसेंजर यहां पहली बार आकर रुकी। इसे हरी झंडी दिखाकर मनोज तिवारी ने आगे के लिए रवाना किया। इतना ही नहीं स्थानीय सांसद मनोज तिवारी ने ट्रेन में टिकट लेकर स्वयं भी सफर किया। मीत नगर/ गोकलपुर सबोली हाल्ट स्टेशन उत्तर रेलवे के दिल्ली शाहदरा-शामली-सहारनपुर सेक्शन पर स्थित है। इस हॉल्ट के बन जाने से इस सेक्शन से दिल्ली की ओर आने-जाने वाले दैनिक यात्रियों को सुविधा होगी। लगभग 1.26 करोड़ रुपये की सांसद निधि से तैयार इस हॉल्ट स्टेशन से मीत नगर, अशोक नगर, सबोली, मंडोली, नंद नगरी और नत्थु कॉलोनी और आसपास के लगभग 2.25 लाख लोगों को लाभ पहुंचेगा। केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने 21 जुलाई 2016 को इस हॉल्ट स्टेशन की आधारशिला रखी थी। मनोज ने कहा कि उत्तर पूर्वी दिल्ली संसदीय क्षेत्र बरसों से अति पिछड़ा क्षेत्र इसलिए रहा, क्योंकि कई लोग विकास की राजनीति करने के बजाय विकास कार्यों में रुकावट कर अपना राजनैतिक स्वार्थ सिद्ध करते रहे हैं। जहां केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार जन-जन के विकास के लिए नई-नई योजनाएं ला रही है। वहीं विगत की सरकारों द्वारा शुरु किए गए और रुके हुए कामों को पूरा करना सरकार की प्राथमिकता है और मीत नगर सबोली गोकलपुर हॉल्ट उनमें से एक है। मनोज ने कहा कि चुनाव के दौरान हजारों मतदाताओं ने एक स्वर में कहा कि मीत नगर सबोली हाल्ट जनता की जरुरत है। उन्होंने पहल कर उसे पूरा करवाया और एक वर्ष की लगातार कोशिश के बाद अब नाम का विवाद खत्म कर रेलवे की एक बड़ी सुविधा जनता को समर्पित की। उन्होंने इस हाल्ट को आने वाले समय में एक आधुनिक जनसुविधा युक्त रेलवे स्टेशन का स्वरूप देने का भी आश्वासन दिया। इस अवसर पर पूर्वी दिल्ली नगर निगम के मेयर विपिन बिहारी सिंह, उत्तर रेलवे, दिल्ली मंडल के मंडल रेल प्रबन्धक आरएन सिंह तथा अपर मंडल प्रबंधक/इंफ्रा राजीव धनखड़ एवं अन्य वरिष्ठ रेल अधिकारी उपस्थित थे।