ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
भाजपा ने जैन समाज का सदैव सम्मान किया है : श्याम जाजू
April 18, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, 17 अप्रैल भारतीय जनता पार्टी दिल्ली ने बुधवार को प्रदेश कार्यालय पर भगवान
महावीर जंयती के अवसर पर जैन धर्म के अनुयायियों के सम्मेलन का आयोजन किया। इस सम्मेलन
को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व दिल्ली के प्रभारी श्याम जाजू एवं प्रदेश संगठन महामंत्री सिद्धार्थन ने सम्बोधित
किया। कार्यक्रम संयोजक एवं दिल्ली प्रदेश के कार्यालय मंत्री गिरीश सचदेवा, केशवपुरम जोन चेयरमैन
जोगीराम जैन, निगम पार्षद अंजू जैन, पूर्व निगम पार्षद प्रवीण जैन, अनेश जैन, सिम्मी जैन सहित
भारी संख्या में जैन धर्म के लोग इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।
उपस्थित लोगों का भाजपा कार्यालय में स्वागत करते हुये राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व दिल्ली के प्रभारी श्याम
जाजू ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी वोट बैंक की राजनीति नहीं करती है। समाज में पवित्रता बनी रहे,
समाज भ्रष्ट न हो और सभी धर्मों के लोगों का सम्मान हो इस संकल्प को लेकर भाजपा काम करती है।
जैन धर्म के लोग प्यासों के लिए प्याऊ लगवाते है, गौशाला व धर्मशाला चलाते है अस्पताल बनवाते है
और समाज के कल्याण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। भाजपा ने जैन समाज का सदैव सम्मान किया
है। सभी धर्मों को साथ लेकर चलने वाली सबका साथ सबका विकास के आधार पर साफ नियत सही
विकास करने वाली अभी तक बनने वाली सरकारों में नरेन्द्र मोदी की एक मात्र सरकार है।

श्याम जाजू ने कहा कि मुगलों ने सभी धर्मों के मन्दिर को तोड़ने का काम किया और वहीं आज भाजपा
सभी धर्मों को साथ लेकर चलने का काम कर रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ही एक ऐसे पहले
प्रधानमंत्री है जो पशुपति नाथ मन्दिर जाते है शिव का भस्म लगाते है और विदेशी मीडिया से हिन्दी में
बात करते है। मोदी आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री को गीता उपहार में देते है। चीनी राष्ट्रपति को बनारस
लेकर जाते है। भगवान महावीर जैन के सत्य और अहिंसा परमों धर्म के संदेश को विश्व में फैलाते हैं।
भाजपा जैन समाज को यह विश्वास दिलाना चाहती है कि पार्टी उनके साथ हर कदम पर खड़ी थी खड़ी
है और खड़ी रहेगी।
विश्व को अहिंसा का संदेश देने वाले भगवान महावीर जंयती की सभी को शुभकामनाएं देते हुये
सिद्धार्थन ने कहा कि जैन समुदाय ने हमेशा भारतीय जनता पार्टी को अपना समर्थन दिया है और यह
मेरा अटूट विश्वास है कि वो प्रधानमंत्री मोदी को 2019 में दिल्ली की सत्ता में पुनः आसीन करने के
लिए दिल्ली की सातों सीटें जीताकर पूर्ण बहुमत की मजबूत सरकार देगें।