ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
दो दिवसीय मिशन ओलंपिक्स स्पोर्ट्स मीट-2019 का हुआ समापन
January 5, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, अगले साल होने वाले ओलंपिक खेलों के आयोजन में भारत को ज्यादा से ज्यादा पदक दिलाने के मकसद से नई खेल प्रतिभाओं को तलाशने और उनका उत्साह बढ़ाने के मकसद से पुलिस फैमिली वेलफेयर सोसायटी (पीएफडब्लूएस) की तरफ से आयोजित की गई दो दिवसीय मिशन ओलंपिक्स स्पोर्ट्स मीट-2019 का शुक्रवार को समापन हुआ। दिल्ली के आंबेडकर स्टेडियम में आयोजित इस समापन समारोह में केंद्रीय खेल मंत्री और ओलंपिक पदक विजेता राज्यवर्धन सिंह राठौड़ बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। उनके अलावा दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक भी अतिथि के तौर पर मौजूद थे। साथ ही राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलों की दुनिया में भारत का नाम रोशन कर चुके कई मशहूर खिलाड़ी और कोच भी इस कार्यक्रम में शामिल होने आए। इस अवसर पर दिल्ली पुलिस के कई बडे अधिकारी मौजूद हुए। साथ ही मिशन ओलंपिक स्पोर्ट्स मीट में हिस्सा लेने वाले सभी प्रतिभागी भी मौजूद रहे। इस दौरान प्रतियोगिता में भाग लेने वाले में से उतकृष्ठ प्रदर्शन करने वाले को मुख्य अतिथियों द्वारा सम्मानित भी किया गया। साथ ही पोलिसकर्मियों को भी अंतर्राष्ट्रीय, राष्ट्रीय, राज्य और क्षेत्रीय स्तर पर उनकी उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने पुलिस फैमिली वेलफेयर सोसायटी द्वारा चलाए जा रहे मिशन ओलंपिक स्पोर्ट्स मीट की सराहना करते हुए मुख्य अतिथि का धन्यवाद व्यक्त किया। इसके अलावा ओलंपिक स्पोर्ट्स मीट पर दिल्ली पुलिस और पुलिस फैमिली वेलफेयर सोसायटी के प्रयासों की सराहना की।

वहीं मुख्य अतिथि राज्यवर्धन सिंह राठौर ने भी इस कार्यक्रम की सराहना करते हुए दिल्ली पुलिस और पुलिस फैमिली वेलफेयर सोसायटी के प्रयासों की भूरी भूरी प्रशंसा की। इस दौरान मुख्य अतिथि राज्यवर्धन राठौर ने दिल्ली पुलिस के कार्यशैली की भी जमकर प्रशंसा की। साथ ही खेल के इस मिशन पर जोर देते हुए उन्होने मोदी सरकार की योजनाओं और भविष्य के प्रयासों का भी जिक्र किया।

कर्नल राठौड़ ने कहा कि सरकार देश में खेल संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए अनेक कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार प्रयास कर रही है कि कम उम्र में ही खिलाड़ियों की प्रतिभा पहचानी जा सके, ताकि उन्हें विश्वस्तरीय चैंपियन बनाने के लिए उचित प्रशिक्षण दिया जा सके। उन्होंने बताया कि 8 और 12 वर्ष के बीच के दो करोड़ बच्चैं की शारीरिक जांच जल्द शुरू की जाएगी। इसके आधार पर उनमें से प्रशिक्षण के लिए एक हजार बच्चैं को चुना जाएगा। ये बच्चे जब 18 साल के हो जाएंगे, तो वे अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने के लिए तैयार हो जाएंगे।

कर्नल राठौड़ ने कहा कि 9 तारीख से पुणे में दूसरा खेलो इंडिया गेम्स आयोजित किया जाएगा, जिसमें 9500 से अधिक युवा एथलीट हिस्सा लेंगे। उन्होंने कहा कि भारत युवाओं को अच्छा नागरिक और अच्छा इनसान बनना चाहिए। इसके लिए स्वच्छ शरीर और तेज दिमाग की जरूरत होती है, जो खेल के मैदान से प्राप्त होने वाले अनुभव के आधार पर संभव होता है। उन्होंने इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए दिल्ली पुलिस के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने पुलिस परिवार कल्याण सोसायटी की प्रशंसा की कि वह आगामी ओलंपिक्स गेम्सदृ2020 के मद्देनजर देश के प्रति अपनी सामाजिक जिम्मेदारी निभा रही है।

इस अवसर पर बोलते हुए पुलिस फैमिली वेलफेयर सोसायटी की अध्यक्ष सूचना पटनायक ने बताया कि इस आयोजन में दिल्ली के अलग-अलग क्लब और एसोसिएशंस की तरफ से एथलेटिक्स की 7, बैडमिंटन की 4, फुटबॉल की 7, कबड्डी की 2, रेसलिंग की 3 टीमों ने हिस्सा लिया। इसके अलावा 20 शूटर्स ने भी इस प्रतिस्पर्धा में शामिल हुए। इन टीमों का मुकाबला पीएफडब्लूएस की मिशन ओलंपिक टीमों के अलावा व्यक्तिगत रूप से इस इवेंट में शामिल हुए अन्य प्रतिभागियों के साथ हुआ। 3 और 4 जनवरी को दिल्ली की 6 अलग-अलग जगहों पर 6 तरह की खेल स्पर्धाओं का आयोजन किया गया था। इसमें कुल 418 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया, जिनमें 105 प्लेयर्स पुलिस फैमिली वेलफेयर सोसायटी के और 297 बाहरी खिलाड़ी शामिल थे। इन खेलों में कुल 231 खिलाड़ियों ने पदक जीते, जिनमें 116 बाहरी प्लेयर्स और 115 सोसायटी के प्लेयर्स शामिल थे। विजेता खिलाड़ियों को मेडल के अलावा पुरस्कार राशि भी दी गई। कुल 86 हजार रुपये की पुरस्कार राशि अलग-अलग खिलाड़ियों के बीच बांटी गई। इंटरनैशनल, नैशनल, स्टेट और जोनल लेवल पर इन खेल प्रतियोगिताओं में अच्छा प्रदर्शन करने वाले पुलिस अधिकारियों के 23 बच्चों को भी कैश प्राइज देकर सम्मानित किया गया। इनमें सबसे बड़ा ईनाम आर्यन पंवार को मिला, जिन्होंने जूनियन एशियन रेसलिंग की ग्रीको रोमन कैटिगरी में सिल्वर मेडल जीता था। उन्हें 30 हजार रुपये की रिवॉर्ड मनी दी गई। इस मौके पर पुलिस फैमिली वेलफेयर सोसायटी के मिशन ओलंपिक सोविनर को भी रिलीज किया गया। केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन करते हुए उम्मीद जताई कि आगामी ओलंपिक खेलों में वे देश का नाम रोशन करेंगे।

आपको बता दें कि इस मिशन ओलंपिक स्पोर्ट्स मीट कुल सात एथलेटिक टीम, चार बैडमिंटन टीम, सात फुटबॉल टीम, दो कबड्डी टीम, विभिन्न क्लबों की तीन कुश्ती टीम और दिल्ली के 20 निशानेबाजों के अलावा संघों ने भाग लिया। इसके अलावा इस अवसर पर पीएफडब्ल्यूएस मिशन ओलंपिक स्मारिका का भी विमोचन किया गया।