ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
दिल्ली सरकार के महिला सुरक्षा के वादे भी हुए खोखले साबित
February 1, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, दिल्ली के नजफगढ़ से झटिकरा के बीच चलने वाली क्लस्टर बस में 27 जनवरी, 2019 को दो लड़कियों के साथ दरिदंगी की कोशिश हुई। बस में यह हिमाकत खुद बस के ड्राइवर और कंडक्टर ने की। दोनों लड़कियां ट्यूशन से वापस लौट रही थी। क्लस्टर बस नंबर 818 में दिल्ली को शर्मशार करने वाली घटना घटी, गनीमत ये रही कि वे दोनों लड़कियां बस से कूद कर अपनी सूझ-बूझ से भाग निकली। देश की राजधानी को कलंकित करने वाली यह घटनाएँ थमने का नाम नहीं ले रही हैं जिसके पीछे महिला सुरक्षा पर बड़े-बड़े वादे करने वाली दिल्ली सरकार की नाकामी मुख्य वजह मानी जा रही है।

इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि सत्ता में आने से पूर्व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने वादा किया था कि निर्भया जैसी घटनाओं को रोकने के लिए साधारण वर्दी में बसों में मार्शल तैनात किये जायेंगे, बसों में सीसीटीवी की व्यवस्था की जाएगी, दिल्ली के डार्क स्पॉट पर कैमरे लगाये जायेंगे लेकिन 4 साल बीत जाने के बाद भी जमीनी स्तर की हकीकत कुछ और ही बयां करती है।

मनोज तिवारी ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा को लेकर केजरीवाल सरकार की गम्भीरता इस घटना से दिल्ली की जनता के बीच उजागर होती है। उन्होंने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि केजरीवाल के उन वायदो का क्या हुआ जो आपने महिलाओं की सुरक्षा के लिए वर्ष 2013 और 2015 के अपने घोषणा पत्र में किये थे। महिला सुरक्षा के नाम पर भी केजरीवाल ने केवल झूठे प्रचार किये और आरोप प्रत्यारोप की राजनीति ही की, यदि 4 साल में उन्होंने इन अपराधों को रोकने के लिए कुछ काम किये होते तो इस तरह के अपराधों पर नियंत्रण पाया जा सकता था।

तिवारी ने कहा कि केजरीवाल ने साबित कर दिया है कि उनकी पार्टी महिला विरोधी है। दिल्ली के संस्कार आश्रम से 9 लड़किया गायब हो गई लेकिन सरकार की तरफ से कोई गम्भीरता नहीं दिखाई गई। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी के कई नेताओ व मंत्रियों पर महिलाओं के प्रति अपराध में कई मामले दर्ज हों और मुख्यमंत्री उनको संरक्षण देते हों उनसे महिलाओं की सुरक्षा और उन्हें इन्साफ की उम्मीद रखना व्यर्थ है। आम आदमी पार्टी के नेता व पूर्व मंत्री संदीप कुमार पर नशीला पदार्थ खिलाकर महिला के साथ बलात्कार का आरोप है आप की महिला कार्यकर्ता सोनी ने खुदखुशी कर ली क्योंकि मुख्यमंत्री ने कम्प्रोमाइज कर लेने को कहा था। दिनेश मोहनिया, प्रकाश जारवाल, शरद चैहान, अनामतुल्लाह खान आदि सभी ने महिलाओं के आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाने का कार्य किया है। इसमें सबसे बड़ा नाम सोमनाथ भारती का है जिसने हाल ही में टीवी एंकर के साथ टीवी पर ही बदसलूकी की और उसको धंधे पर बैठने की सलाह दी इतना ही नहीं उसे अपशब्द भी कहे। ऐसे लोगों से महिलाओं के सम्मान की अपेक्षा कैसे की जा सकती है ?

तिवारी ने कहा कि दिल्ली भाजपा ने सदैव दिल्ली की महिलाओं की सुरक्षा के प्रति और उन्हें इन्साफ दिलाने के लिए आवाज उठाई है और केजरीवाल सरकार की इस लापरवाही का विरोध करती है और दिल्ली सरकार को अगाह करती है कि वह बसों में जल्द से जल्द मार्शल तैनात करने और बसों में सीसीटीवी लगवाने का अपना वादा निभाएं ताकि भविष्य में ऐसी कोई घटना दुबारा न घट सके।