ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
दिल्ली में चुनाव प्रचार अभियान में पिछड़ रही है कांग्रेस
April 14, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली। दिल्ली में चुनाव प्रचार अभियान में कांग्रेस पिछड़ती नजर आ रही है। सातों सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशियों की अधिकारिक घोषणा नहीं होने से पार्टी का चुनावी कैंपेन ठहर गया है। ना तो संभावित प्रत्याशी और ना ही कार्यकर्ता उत्साहित हो पा रहे हैं। उधर, गठबंधन पर भी औपचारिक पूर्ण विराम नहीं लगने से भी पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार नहीं हो पा रहा है। यही नहीं कांग्रेस के भीतर की गुटबाजी ने भी चुनावी प्रचार में बाधा बन रही है। पार्टी के रणनीतिकार भी चुप्पी साधे हुए हैं। दरअसल प्रदेश कांग्रेस को पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व के हरी झंडी का इंतजार है। दिल्ली में दोनों विपक्षी पार्टियों के संभावित व घोषित प्रत्याशी अपने- अपने क्षेत्र में सक्रिय दिखाई पड़ रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं की तरफ से अन्य राजनीतिक पार्टियों को कटघरे में नहीं खड़ा किया जा रहा है। कार्यकर्ता मान रहे है जब तक कांग्रेस पार्टी के आलाकमान मंच पर आकर यह नहीं कह देते है कि आम आदमी पार्टी से गठबंधन नहीं होगा और आप कांग्रेस के सातों प्रत्याशियों को चुनाव जीताने में जुट जाए तब तक यह संभव नहीं है। यह सवाल उनके सामने बना रहेगा कि आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार को कटघरे में खड़ा करना है कि भाजपा को। हालांकि प्रदेश कांग्रेस दिल्ली लोकसभा चुनाव के लिए भी अलग से एक घोषणा पत्र तैयार कर रही है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि दो दिन बाद कांग्रेस पूरी तरह से सक्रिय दिखाई देगी।