ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
ट्रिपल तलाक पर बिल पास होने पर प्रदेश भाजपा कार्यालय में मुस्लिम महिलाओं ने मनाया जश्न
July 31, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, मोदी सरकार के ऐतिहासिक तीन तलाक रोकने से संबंधित बिल के संसद में पास होने पर दिल्ली की मुस्लिम महिलाओं ने आज भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश कार्यालय में आकर अपनी खुशी का इजहार किया और मोदी सरकार को ट्रिपल तलाक रोकने संबंधि बिल पास कराने के लिये मुबारकबाद दिया। मुस्लिम महिलाओं ने मोदी सरकार जिन्दाबाद के नारे लगाये और मिठाइयां बांटकर अपनी खुशी जाहिर की। इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व दिल्ली के प्रभारी श्याम जाजू, नई दिल्ली की सांसद मीनाक्षी लेखी, प्रदेश महामंत्री व सदस्यता अभियान प्रमुख कुलजीत सिंह चहल, राजेश भाटिया, उपाध्यक्ष राजीव बब्बर, महिला मोर्चा की अध्यक्ष पूनम पाराशर झा, मीडिया सह-प्रभारी नीलकांत बख्शी, प्रमुख अशोक गोयल देवराहा, सह-प्रमुख हरिहर रघुवंशी एवं आनंद त्रिवेदी उपस्थित थे।
पत्रकारों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व दिल्ली के प्रभारी श्याम जाजू ने कहा कि विपक्ष की तमाम अड़चनों को पार करते हुए भाजपा सरकार की अटल व अडिग इच्छाशक्ति का प्रतीक मुस्लिम महिलाओं पर चिरकाल से होने वाले अत्यार का अन्त करने वाले कानून ट्रिपल तलाक रोकने का कानून राज्यसभा में पास हो गया। पूरे देश के लिए यह एक ऐतिहासिक निर्णय है। करोड़ों मुस्लिम माताओं-बहनों की जीत हुई है और उन्हें सम्मान से जीने का हक मिला है, सदियों से तीन तलाक की कुप्रथा से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को आज न्याय मिला है। पूरे देश की मुस्लिम महिलाओं के लिए उत्सव लेकर आये तीन तलाक रोकने के बिल के पास होने पर आज कार्यालय पर मुस्लिम महिलाओं का आगमन, यह संकेत लेकर आया है कि समाजिक न्याय कई वर्षों से इन्तजार कर रहा था जिसे मोदी सरकार के आने से गति मिली और क्रांति के रूप में बिल पास हुआ है। भारत एक धर्मनिरेपक्ष देश है। 2013 में तीन तलाक की एक पीड़िता सुप्रीम कोर्ट गई थी और सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट रूप से कहा था कि यह एकतरफा और असंवैधानिक है जिसे कुरान में भी गलत बताया गया है।
नई दिल्ली की सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा कि मोदी सरकार के ऐतिहासिक निर्णय के कारण आज तीन तलाक को तलाक असल मायने में मिला है। सदियों से चली आ रही कुप्रथा को मुस्लिम महिलाओं को पीढ़ी दर पीढ़ी सहन करना पड़ा रहा था। सामाजिक असमानता के रूप में मुस्लिम महिलाओं को विकास की मुख्यधारा से अलग करने वाली कुरीति को समाप्त करने के लिए व महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए केन्द्र सरकार बिल लेकर आई जो अब कानून बन चुका है। कार्यालय पर एकत्रित सभी मुस्लिम बहनों को बधाई देते हुए कहा अब समाज में समानता से जीने का हक देने वाला कानून आपकी ताकत है। अब किसी भी तरह का अन्याय नहीं सहना पड़ेगा, क्योंकि केन्द्र में मोदी की सरकार है।
प्रदेश महामंत्री कुलजीत सिंह चहल ने कहा कि आज के आधुनिक युग में जहां महिला-पुरूष कंधे से कंधा मिलाकर बराबरी की सहभागिता के साथ काम कर रहे है वहीं मुस्लिम समाज हमेशा से ही इन विचारों से पिछड़ रहा था क्योंकि मुस्लिम महिलाओं को समान अवसर नहीं मिल रहे थे।
महामंत्री राजेश भाटिया ने कहा कि आज ट्रीपल तलाक बिल के कानून बन जाने से मुस्लिम महिलाओं को वो समान अवसर मिलेगें जिसके सहारे वो समाज में सम्मान से जीने का अधिकार पा सकेगीं। उन्होंने मुस्लिम महिलाओं को बधाई हुए कहा कि मोदी सरकार सबका साथ सबका विकास सबके विश्वास के साथ करने के लिए संकल्पबद्ध है।
मुस्लिम महिलाओं को बधाई देते हुए महिला मोर्चा की अध्यक्षा पूनम पाराशर झा ने कहा कि तीन तलाक बिल के पास होने में तमाम राजनीतिक अड़चनों को दरकिनार करते हुए मोदी सरकार ने महिला सशक्तिकरण के लिए पुरजोर कदम उठाया है जिसकी जितनी भी सराहना की जाये व कम है।