ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
आम आदमी पार्टी की पहली प्राथमिकता सिखों को न्याय या कांग्रेस से समझौता
December 23, 2018 • Delhi Search

दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने आरोप लगाया है कि आम आदमी पार्टी के मुखिया तथा मुख्यमंत्री केजरीवाल कांग्रेस के साथ मिल गए हैं तथा कांग्रेस हाइकमान से पड़ी डांट के बाद दिल्ली विधानसभा में पारित प्रस्ताव राजीव गांधी का भारत रत्न वापस लिया जाए से पीछे हट रहे हैं जो कि अब सदन की संपत्ति बन चुका है। क्योंकि आम आदमी पार्टी को कांग्रेस के साथ समझौता करना है आप पार्टी के नेता अब इस पर सफाई देने में लगे हैं।
श्री गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार तथा आम आदमी पार्टी ने कहा था कि 1984 के सिख कत्लेआम में शामिल दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही होगी लेकिन वही आम आदमी पार्टी कांग्रेस को क्यों बचा रही है जिनके नेता इस नरसंहार में सम्मिलित थे? आम आदमी पार्टी के सिख विधायक सिखों की भावनाओं के अनुरूप प्रस्ताव लाए जिसमें राजीव गांधी की बात कही गयी। लेकिन जब आम आदमी पार्टी नेतृत्व को लगा की कांग्रेस के साथ समझौता करना है तथा इस तरह कांग्रेस से समझौता टूट जाएगा तो अब प्रस्ताव से पीछे हट रहे हैं तथा इस प्रस्ताव से पीछा छुड़ाना चाहते हैं। उन्होंने सवाल किया कि आम आदमी पार्टी की पहली प्राथमिकता क्या है? सिखों को न्याय मिले या राजनैतिक हितों को साधने के लिए कांग्रेस से समझौता।

श्री विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि आम आदमी पार्टी कांग्रेस के इशारे पर काम कर रही है। इसीलिए जब 34 साल बाद सिखों के नरसंहार में सम्मिलित कांग्रेस के एक बड़े नेता जो कत्लेआम की साजिश में शामिल थे, सजा मिलने पर सदन में चर्चा हो रही थी तो उस चर्चा को हल्का करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल तथा उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सदन में गायब थे। इससे स्पष्ट है कि आम आदमी पार्टी व कांग्रेस में अंदरखाने डील हो रही थी जिसका खुलासा हो गया है।
श्री विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि जो लोग छोटी-छोटी बात पर लोगों पर बड़े-बड़े आरोप लगाते हैं कांग्रेस के नेता पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के खिलाफ जब प्रस्ताव पारित हुआ तो पूरी आम आदमी पार्टी में खलबली क्यों मची हुई है? आम आदमी पार्टी कांग्रेस की बी टीम बनकर छिप-छिप कर मिलकर तैयारी कर रहे थे वह सच सामने आ गया है।
श्री गुप्ता ने कहा कि भाजपा विधायक प्रस्ताव में यह शामिल करना चाहते थे कि कांग्रेस के हाथ सिखों के खून से सने हुए हैं इसलिए कांग्रेस से इस सदन का कोई सदस्य सरोकार नहीं रखेगा। क्योंकि इसे प्रस्ताव में शामिल नहीं किया गया भाजपा विधायक सदन से बाहर आ गए। उन्होंने कहा कि प्रस्ताव आम आदमी पार्टी के अंदर का मामला है। ये सब आपस में लड़ रहे हैं, झगड़ रहे हैं। कुछ प्रस्ताव के हक में हैं, कुछ प्रस्ताव के विरोध में हैं। कुल मिलाकर आम आदमी पार्टी नेतृत्व पूरी तरह से कांग्रेस नेतृत्व के इशारे पर काम कर रहा है। केजरीवाल इस समय वही काम कर रहे हैं जो कांग्रेस हाइकमान कह रही है। इसका मतलब साफ है कि दिल्ली के लोगों की आंखों में धूल झोंकने के लिए दिल्ली की सरकार तथा आम आदमी पार्टी नौटंकी कर रही है।
श्री गुप्ता ने कहा कि 2019 के चुनावों की तैयारी में आम आदमी पार्टी कांग्रेस से मिलकर दिल्ली के लोगों को धोखा देने की तैयारी कर रही है। जो लोग कांग्रेस का विरोध करके, कांग्रेस के भ्रष्टाचार को उजागर कर सत्ता में आए थे वे आज उन्हीं के साथ मिलकर भ्रष्टाचार कर रहे हैं। साफ है कि आप भ्रष्टाचारी कांग्रेस के साथ मिलकर अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों की तैयारी कर रही है।