ALL delhi Business Ghaziabad Faridabad Noida STATE vichar
अल्पसंख्यकों को एक बार फिर बीजेपी का डर दिखा कर लोकसभा का चुनाव जीतना चाहती है आप: विजेन्द्र गुप्ता
January 7, 2019 • Delhi Search

नई दिल्ली, विपक्ष के नेता विजेन्द्र गुप्ता ने सोमवार को आम आदमी पार्टी (आप) पर आरोप लगाया कि वह दिल्ली में अल्पसंख्यकों को एक बार फिर बीजेपी का डर दिखा कर लोकसभा का चुनाव जीतना चाहती है। उन्होंने कहा कि धर्म और संप्रदाय के नाम पर वोट जुटाना आप की फितरत में शामिल हो चुका है। उन्होंने कहा कि बीते शुक्रवार को लगभग 400 शब्दों का पर्चा उर्दू और हिन्दी में छपवाकर शुक्रवार को मस्जिदों के बाहर बांटा गया। इस पर्चे पर एक तरफ आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल और दूसरी तरफ लोकसभा प्रभारी आतिशी मर्लेना की फोटो लगी है। उन्होंने कहा कि इस पर्चे में लिखा है कि आज कल बीजेपी, आरएसएस के लोग पार्को में जाकर यह प्रचार कर रहें हैं कि यार मोदी ने बेड़गर्क कर दिया, इससे तो कांग्रेस ही अच्छी थी।

विपक्ष के नेता ने कहा कि इस प्रकार के पंपलेट बंटवाकर अल्पसंख्यक बाहुल्य वाले इलाके में बंटवाना आप की बौखलाहट सिद्ध करता है। वह अपने चार साल के काम के आधार पर वोट मांगने के बजाय अल्पसंख्यकों को खौफ दिखाकर अपना राजनीतिक उल्लू सीधा करना चाहती है। उन्होंने आप से सीधे पूछा की उन्होंने चार साल में अल्पसंख्यकों के विकास और कल्याण के लिये क्या किया? वह तो केवल सांप्रदायिक आधार पर झूठ फैलाकर वोट बटोरने की राजनीति में विश्वास करती है। एक तरफ वह कांग्रेस से गठबंधन की बात करती है दूसरी तरफ वह कांग्रेस के प्रतिस्पर्धी के रूप में अपने आपको प्रस्तुत करती है। आप की प्लान ए और बी दोनों तैयार हैं। जिस तरफ पलड़ा दिखा उस तरफ ही पार्टी करवट ले लेगी।

विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि पर्चे में केजरीवाल को अल्पसंख्यकों के मसीहा में प्रस्तुत किया गया है। पर्चे में लिखा है कि दिल्ली में आप ही बीजेपी को हरा सकती है। जैसे उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी और बसपा ही भाजपा को हरा सकती हैं, पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी, उड़ीसा में नवीन पटनायक, उसी तरह दिल्ली में केजरीवाल ही भाजपा को हरा सकते हैं। विजेन्द्र गुप्ता नेे कहा कि दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन ने अप्रैल, 2017 में भी बवाना असेंबली के लिए बवाना के सभी अल्पसंख्यकों भाइयों से अपील करी थी कि कौम के नाम पर अल्पसंख्यक आप को जरूर वोट दें। इस बार फिर आप यह गलती दोहरा रही है।

आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को एक सराहनीय कदम: विपक्ष के नेता विजेन्द्र गुप्ता ने आज मोदी सरकार द्वारा केबिनेट बैठक में आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को सरकारी नौकरियों और शिक्षा संस्थानों में 10 प्रतिशत दिए जाने की स्वीकृति का स्वागत किया। उन्होंने आशा व्यक्त करी कि कल संसद के शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन इसे संसद में इस आशय के बिल को प्रस्तुत किया जा सकता है। यह आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में उचित प्रतिनिधित्व देने के लिये उठाया गया प्रगतिशील कदम है। यह निर्णय एक बार फिर गरीबों के कल्याण के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को सिद्ध करता है। विजेन्द्र गुप्ता ने आशा व्यक्त करी कि कांग्रेस और आप भी संसद में इस बिल का समर्थन करेंगी।